dark_mode
एड्स से बचाव के प्रति जागरूकता लाने जोबी कॉलेज ने निकाली रैली

एड्स से बचाव के प्रति जागरूकता लाने जोबी कॉलेज ने निकाली रैली

रायगढ़। शहीद वीर नारायण सिंह शासकीय महाविद्यालय जोबी-बर्रा में शुक्रवार 01 दिसम्बर को विद्यार्थी अपने-अपने मेन्टोर यानी सहायक प्राध्यापकों के साथ रैली पर निकले। एड्स से बचाव और स्वस्थ एवं सुरक्षित समाज निर्माण का लक्ष्य लिए ग्राम भ्रमण रैली निकाल कर जागरूकता संदेश प्रेषित किया।
प्राचार्य रविन्द्र कुमार थवाईत के निर्देशानुसार आयोजित इस एक दिवसीय जागरूकता रैली की शुरूआत महाविद्यालय में जानकारी प्रसार कार्यशाला से हुई। जिसमें राष्ट्रीय सेवा योजना ओर यूथ रेडक्रॉस ईकाई इन दोनों कार्यक्रमों के तहत विष्व एड्स दिवस पर विद्यार्थियों को एड्स की बीमारी और एच.आई.बी. संक्रमण के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई। सहायक प्राध्यापक एवं एन.एस.एस. अधिकारी सुरेन्द्र पाल दर्शन ने विद्यार्थियों के समक्ष इस बीमारी के पनपने के कारण बतलाते हुए भारत में संक्रमित रोगियों की संख्या, बीमारी के युवाओं में तेजी से बढ़ते संक्रमण, लैंगिक आधार पर बीमारी की वर्तमान स्थिति और जागरूकता का अभाव आदि बिन्दुओं पर अपने विचार रखे। उन्होंने इससे बचाव के कारगर तरीके बतलाते हुए सुरक्षा पहुलओं पर ध्यान देने और उपचार लेने में देर न करने जैसे आवश्यक टिप्स दिए।
बढ़ते क्रम में विद्याथीगण सहायक प्राध्यापक एवं रेडक्रॉस अधिकारी योगेन्द्र कुमार राठिया के साथ ग्राम भ्रमण पर निकले, जिसने रैली का आकार लिए हाथों में बैनर व पोस्टरों के साथ स्थानीय आमजन का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। इस दौरान प्रेरक नारों के रूप मे जागरूकता और बचाव संबंधी गुंज निरन्तर बनी रही। विद्यार्थियों के समक्ष जो भी आए उनसे उन्होंने इस संबंध में खुल कर बात की और अपने-अपने विचार एक-दूसरे से साझा किए।
उल्लेखनीय है कि इस जागरूकता कार्यशाला संग रैली में महाविद्यालय के बीए, बीकॉम और बीएससी तीनों संकाय के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय वर्ष के छात्र एवं छात्राओं दोनों ने अपने-अपने सहायक प्राध्यापकों व अतिथी व्याख्याताओं की अगुआई में स्वस्फूर्त होकर भाग लिया। सहायक प्राध्यापक वासुदेव प्रसाद पटेल, सहायक प्राध्यापक डॉ. श्रमती ज्ञानमणी एक्का, सहायक प्राध्यापक डॉ. श्रीमती श्वेता कुम्भज उपस्थित रहे। जोबी पुलिस चैकी स्टाफ और स्थानीय चिकित्सालय के प्रयोगशाला तकनीशियन चंद्र कंवर सहित अतिथी व्याख्याता राहुल राठौर, रितेश राठौर, रामनायण जांगडे एवं सुश्री रेवती राठिया का विशेष योगदान रहा।

comment / reply_from

Share on

related_post