dark_mode
  • Friday, 01 July 2022
  • Visits : 294902
मुख्यमंत्री ने पत्रकारों  से कई विषयो में चर्चा की, पेट्रोल- डीजल को लेकर दिया बयान

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कई विषयो में चर्चा की, पेट्रोल- डीजल को लेकर दिया बयान

मुख्यमंत्री भूपेश ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि, विश्व जैव विविधता दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ के बहुत सारे जैव विदिधता बोर्ड जो लंबे समय से बने थे, लेकिन काम नहीं हो पा रहा था. हमारी सरकार में बोर्ड का विकास किया जा रहा है. बजट निकाला जा रहा है. हमारे आदिवासी समाज के पूर्वजों ने जो चित्र बनाए हैं. जो पूरे छत्तीसगढ़ में 34 जगह पर हैं. जिसमें चरामा, कोरबा, धरमजयगढ़, जैसे विभिन्न जगह पर हजारों साल पुराने चित्र मिले हैं. इसी प्रकार से पूरे देश में हसदेव किनारे जो समुद्री फासिल मिले हैं. उसे पार्क बनाने का फैसला हम लोगों ने किया है. जैव विविधता दिवस के अवसर पर आज कार्यक्रम आयोजित था, जिसमें सीएम भूपेश भी शामिल हुए थे.

 
 
 
 
 
 
 
आगे उन्होंने कहा, हमारी सरकार बनने के बाद बोर्ड को नए तरीके से बनाया गया है. अनेक समितियां गठित की गई है. गांव में जैव विविधता संरक्षित सुरक्षित किया जा सकता है, उस दिशा में काम किया जाएगा.आगे सीएम भूपेश ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर कहा कि, डीजल में 6 रुपए और पेट्रोल में 8 रुपए घटाया है. हम तो कहते हैं कि, यूपीए सरकार के समय में जितना एक्साइज ड्यूटी था. उतना ही केंद्र सरकार को लाना चाहिए. केंद्र के पेट्रोल-डीजल कम करने पर भी हमको सेंट्रल एक्साइज के माध्यम से 500 करोड़ से अधिक का नुकसान है. लेकिन प्रदेश की जनता के हित में हम फैसले का स्वागत करते हैं. केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि जो यूपीए सरकार के समय में एक्साइज लिया जाता था. उसी के हिसाब से लेना चाहिए
 
 
 
 
 
 
 
 
 
आगे उन्होंने कहा कि, भारत सरकार ने पहली बार 4% शेष लगाया है. जो पहली बार लगाया गया है उसे समाप्त किया जाना चाहिए. केंद्र सरकार ने कम किया था. राज्य सरकार का हिस्सा भी उसमें कट गया. 42% हमें मिलता है और बाकी बचा केंद्र सरकार को जाता है. पड़ोसी राज्य का अध्ययन कर रहे हैं. उसके हिसाब से छत्तीसगढ़ में भी कम करेंगे. भारत सरकार से पुनः मेरी मांग है कि यूपीए सरकार में जितना रसोई गैस का दाम था उतने ही दाम पर ले आएं.
 
 

comment / reply_from

Share on

related_post